टेलेग्राम से जुड़े 👉 यहाँ क्लिक करे
Youtube 👉 यहाँ क्लिक करे

भारत की प्रमुख नदियां एवं उनके बारे में जानकारी।

भागीरथी नदी के बारे में जानिए।

भागीरथी नदी उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में 3900 मीटर की ऊंचाई पर गोमुख के निकट गंगोत्री हिमानी गंगा का उद्गम स्रोत है यहां से भागीरथी कहते हैं और अलकनंदा का उद्गम स्रोत बद्रीनाथ के ऊपर सतोपंथ हिमानी में है अलकनंदा में महा सारी नाम की मछली होती है इसका निवास नदी के निचले हिस्से में होता है किंतु अंडा देने के लिए यह ऊपर आ जाती है और भागीरथी नदी भागीरथी की ऊंचाई बहुत अधिक है यह लगभग 3900 मीटर ऊंचाई है इस नदी में बहुत अधिक मात्रा में जल रहता है और यह नदी बहुत गहराई की है इस नदी में महाशिव नाम की मछली पाई जाती है वह निचले सिरे में पाई जाती है तथा वह अंडा देने के लिए ऊपर जाते हैं और यह नदी में जल बहुत अधिक मात्रा में बहता है।

गंगा नदी के बारे में आओ जाने।

गंगा नदी का नाम गंगा देवप्रयाग के बाद पड़ता है जहां अलकनंदा एवं भागीरथी आपस में मिलते हैं गंगा हरिद्वार के निकट मैदानी भाग में प्रवेश करती है वह गंगा नदी बांग्लादेश में पावा के नाम से बहती है ब्रह्मपुत्र नदी बांग्लादेश में जुमना के नाम से बहती है और भावना के पूर्व गोलू दो घाट के पास पंजा से मिलती है और इसकी सम्मिलित धारा को पंजा कहते हैं आगे बैठी हुई जब यह नदी चांदपुर के उत्तर पूछती है तो मैं गाना इससे आकर मिलती है तब यह मेघाना के नाम से बहती हुई कई जल भीतरी गांव में बढ़ती हुई समुंद्र में मिल जाती है मैं गाने की सहायक बारिक नदी है गंगोत्री गंगा नदी गंगोत्री के पास गोमुख हिमानी तथा समुंद्र तल बंगाल की खाड़ी से 3900 मीटर से भी अधिक ऊंचाई पर है गंगा नदी की लंबाई लगभग 2525 है भारत में गंगा नदी भागीरथी एवं अलकनंदा नदियों का नाम भी सम्मिलित है।

ब्रह्मपुत्र नदी की लंबाई देखी कितनी है।

ब्रह्मपुत्र नदी की लंबाई 2900किलोमीटर है और ब्रह्मपुत्र नदी तिब्बत में मानसरोवर झील से 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित चार्मिंग धूम हिमानी नदी है ब्रह्मपुत्र की ऊंचाई समुंद्र से लगभग 5150 मीटर है ब्रह्मपुत्र नदी बंगाल की खाड़ी में आकर गिरती है और ब्रह्मपुत्र नदी भारत में 916 किलोमीटर है और प्रमुख सहायक नदियां हैं जैसे दिबांग कोमा लोहित कोमा कमिंग अथवा मानस यह सब बांग्लादेश में है ब्रह्मपुत्र नदी चयन युग डूंगा हिमानी से निकलती है यह हिमानी मानसरोवर झील के दक्षिण पूर्व में लगभग 80 किलोमीटर की दूरी पर है तिब्बत में इसे सिंगापुर और अरुणाचल प्रदेश में देहांग एवं असम में ब्रह्मपुत्र कहते हैं यह एक पूर्ववर्ती नदी है इसकी प्रमुख सहायक नदियां हैं जैसे दीवानगी बरेली मानस धन श्री ओ रैदास आदि।

गोदावरी और कृष्ण नदी के बारे में देखिए।

गोदावरी और कृष्णा नदी 16 सितंबर 2015 को आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा लिए गए महत्वपूर्ण निर्णयों के अंतर्गत दक्षिण भारत की दो बड़ी नदियों गोदावरी एवं कृष्णा को जोड़ने का कार्य किया गया था इसके अंतर्गत परीक्षण के दौर पर आंध्र प्रदेश के गोदावरी जिले से इब्राहिमपटनम नामक स्थान से पहली बार गोदावरी नदी के 600 क्यूसेक पानी को पोलावरम नहर द्वारा विजयवाड़ा जिले में कृष्णा नदी तक पहुंचाया गया यह पोलावरम एवं विजयवाड़ा लिंक परियोजना आंध्र प्रदेश के कृष्ण बा गुटर जिलों में जिलों में पानी की कमी का सामना कर रहे किसानों के लिए लाभकारी मानी जा रही है गोदावरी और कृष्ण नदी यह बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती है कृष्ण नदी की लंबाई 1401 किलोमीटर है और गोदावरी की लंबाई 1465 किलोमीटर है गोदावरी नदी नासिक जिले महाराष्ट्र के बीए बंक गांव के एक पहाड़ी क्षेत्र में इसका उद्गम हुआ है और किड्स नदी की ऊंचाई 1337 मीटर है।

अपने दोस्तों को शेयर करो
टेलेग्राम से जुड़े 👉 यहाँ क्लिक करे
Youtube 👉 यहाँ क्लिक करे

Leave a Comment